देश में तेज हुई बोर्ड परीक्षाएं रद करने की मांग,जानें: CBSE ने क्या कहा

Share with:


महाराष्ट्र उत्तर प्रदेश छत्तीसगढ़ और पंजाब समेत कई राज्य पहले ही अपनी बोर्ड परीक्षा की तिथियों में बदलाव की घोषणा कर चुके हैं। शिवसेना ने भी शिक्षा मंत्रालय को पत्र लिखकर सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं की तिथियों में परिवर्तन की मांग की थी।

नई दिल्ली: देश में कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार के बीच सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं रद करने की मांग तेज हो गई है। हालांकि सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंड्री एजूकेशन (सीबीएसई) ने इस संबंध में अभी कोई निर्णय नहीं लिया है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को केंद्र से परीक्षा रद करने की मांग करते हुए कहा कि परीक्षा केंद्र सुपरस्प्रेडर बन सकते हैं। इसके साथ ही दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि जब पूरे साल परंपरागत तरीके से पढ़ाई नहीं हो सकी तो फिर हम पुराने तरीके से परीक्षा कराने पर क्यों जोर दे रहे हैं।

परीक्षा रद करने की बढ़ती मांग पर सीबीएसई की गवर्निग बाडी की सदस्य और माउंट आबू स्कूल की प्रधानाचार्या ज्योति अरोड़ा ने कहा कि बोर्ड केंद्र सरकार के फैसले के साथ है। बोर्ड सभी छात्रों के हित को ध्यान में रखकर ही कोई निर्णय लेता है। सीबीएसई ने परीक्षाओं को टाले जाने पर कोई निर्णय नहीं लिया है, क्योंकि बोर्ड छात्रों के भविष्य और स्वास्थ्य, दोनों को ध्यान में रख रहा है। ये परीक्षाएं छात्रों के भविष्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। इस बीच सीबीएसई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, बोर्ड परीक्षाएं आनलाइन नहीं कराई जा सकती हैं। हां, अगर स्थिति और खराब होती है तो परीक्षाएं स्थगित करने का फैसला लिया जा सकता है। फिलहाल कोई फैसला नहीं हुआ है। गौरतलब है कि बोर्ड परीक्षाएं चार मई से आरंभ हो रही हैं।

कोरोना के गहराते संकट के कारण करीब दो लाख छात्रों ने एक आनलाइन पिटीशन पर हस्ताक्षर कर बोर्ड परीक्षाएं रद किए जाने की मांग की थी। विगत दिवस कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक से सीबीएसई की बोर्ड परीक्षाएं रद करने का आग्रह किया था। शिवसेना ने भी शिक्षा मंत्रालय को पत्र लिखकर सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं की तिथियों में परिवर्तन की मांग की थी। बता दें कि महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़ और पंजाब समेत कई राज्य पहले ही अपनी बोर्ड परीक्षा की तिथियों में बदलाव की घोषणा कर चुके हैं।

Author: MNI NEWS