सम्पूर्ण समाधान दिवस में 61 में से 10 मामलों का हुआ निस्तारण, अबोध बच्ची का प्रकरण पूरे समय छाया रहा

कायमगंज/फर्रुखाबादः(MNI NEWS) जन समस्या निस्तारण हेतु आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस में आज 61 फरियादियों ने अपनी समस्याओं के निराकरण हेतु प्रार्थना पत्र दिए। इनमें से 10 समस्याओं का मौके पर ही निस्तारण कर दिया गया। शेष 51 प्रार्थना पत्र संबंधित विभागीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों को सौंपकर स्थलीय निरीक्षण उपरांत निष्पादन का निर्देश दिया गया। जिस समय उपजिलाधिकारी नरेंद्र सिंह एवं क्षेत्राधिकारी राजवीर सिंह गौर जन समस्याएं सुन रहे थे।

उसी समय कस्बा शमशाबाद की एक महिला अबोध बच्ची को गोद में लिए समाधान दिवस टेबल पर पहुंची। महिला ने गुहार लगाते हुए कहा कि साहब मेरी यह 5 साल की बच्ची घर के बाहर दरवाजे पर खेल रही थी। उसी समय मेरे ही मोहल्ले का मुफीद आया और मेरी इस बच्ची को बहला-फुसलाकर अपने साथ ले गया। उस वहसी दरिंदे ने अबोध बच्ची को निर्वस्त्र कर दुष्कर्म का प्रयास किया। उसकी बेजा हरकतों से परेशान बच्ची चीखने लगी। उसी समय इसी मोहल्ले का एक युवक भागकर वहां पहुंचा। जिसे देखते ही मुफीद मौके से भाग गया।

महिला ने यह आरोप लगाते हुए प्रशासनिक अधिकारियों से कार्यवाही करने की गुहार लगाई। इसके अतिरिक्त क्षेत्र के गांव घमइया रसूलपुर निवासी गजराज सिंह तथा मेरापुर थाना क्षेत्र के गांव आरामसिंह व कायमगंज के मोहल्ला मेहंदी बाग निवासी पुष्पा देवी पत्नी कुंवर पाल सहित कुछ लोगों ने अपनी कृषि भूमि या फिर आवासीय भूखंडों एवं चक मार्गो पर दबंगों द्वारा अवैध कब्जा करने की शिकायत की। जबकि नगला उम्मेद मजरा नरैना मऊ के मेघ सिंह ने प्रार्थना पत्र देकर कहा कि उसके आवास के ऊपरी भाग वाले कमरे में अचानक आग लग जाने से हजारों रुपए का नुकसान हुआ।

किंतु लेखपाल ने नुकसान आंकलन की आख्या गलत प्रस्तुत कर दी। जिससे उसे सरकारी सहायता नहीं मिल सकी। समाधान दिवस में पहुंचे गांव मझोला निवासी कृपाल सिंह ने अपनी पीड़ा बताते हुए कहा कि पिछले 1 साल से उसकी स्वीकृत वृद्धावस्था पेंशन प्राप्त नहीं हो रही है। बुढ़ापे में जीवन यापन करना मुश्किल हो रहा है। इस तरह एक के बाद एक 61 फरियादी अपनी समस्याओं के निस्तारण की उम्मीद लेकर समाधान दिवस में अधिकारियों के सामने पहुंच कर गुहार लगाते रहे। इस अवसर पर लगभग सभी विभागों के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।

Author: MNI NEWS