जनता लोकतंत्र की गंगा की भागीरथ हैः पदमकांत शर्मा

फर्रूखाबादः(MNI NEWS) उत्तर प्रदेश में विधानसभा का कवरेज करने वाले लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार एवं कला कुंज भारती के सम्पादक पदमकांत शर्मा (प्रभात) ने कहा कि जनता लोकतंत्र की गंगा की भागीरथ है।

श्री शर्मा फर्रूखाबाद शहर के गंगा पांचालघाट पर माघ माह में मेला श्रीरामनगरिया एवं विकास प्रदर्शनी में आज अपरान्ह आयोजित पत्रकार सम्मेलन में ‘‘लोकतंत्र में मीडिया की भूमिका’’ के विषय पर मुख्य अतिथि पद से बोल रहे थे। उन्होने कहा कि किसी समय मीडिया (पत्रकारिता) साहित्य का हिस्सा होती थी और अब उससे अलग जनता की आवाज बनने का काम रही है, ऐसे में देश की आजादी और मजबूती के लिये, मीडिया को स्वतंत्र निष्पक्ष भूमिका निभाने की जरूरत है।

श्री शर्मा ने कहा कि नई तकनीक निष्पक्ष नहीं हो सकती लेकिन देश की जनता लोकतंत्र की गंगा की भागीरथ है। उन्होने कहा कि मीडिया झूठ एवं अन्याय के खिलाफ लिखती है ताकि उसकी विश्वासनीयता बनी रहे। पत्रकारिता के अधिकार अक्षुण रहेंगे। तभी लोकतंत्र मजबूत और स्वस्थ रहेगा। पत्रकारिता मिशनवादी कल थी आज भी है और कल भी रहेगी।

फर्रूखाबाद को प्रख्यात समाजवादी डॉ0 राममनोहर लोहिया की कर्मभूमि बताते हुये उन्होने कहा कि जहां वाद और संवाद होते हैं। वहां लोकतंत्र की धाराओं में परिवर्तन लाया जा सकता है। लोकतंत्र असहष्णू रहना चाहिए। उन्होने कहा कि किसी की छवि बनाने और बिगाड़ने पहले जनता जर्नादन की आवाज को लोकतंत्र में मीडिया को प्राप्त स्वतंत्रता के अधिकारों के तहत निष्पक्ष आवाज उठानी चाहिए ताकि हमारी लोकतांत्रिक परम्पराएं और देश मजबूत हो सके।

इस अवसर पर उपजिलाधिकारी एवं मेला सचिव अनिल कुमार, अपर उपजिलाधिकारी एवं जिला सूचना अधिकारी सुनील कुमार यादव आदि ने भी अपने विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम की अध्यक्षता यूएनआई के स्थानीय वरिष्ठ पत्रकार विपिन बिहारी सक्सेना ने की। संचालन महेश उपकारी ने किया। इस मौके पर जावेद आसी, इन्दू अवस्थी, शरद कटियार, सूर्या बाजपेई, जितेन्द्र दुबे, ओमप्रकाश शुक्ला, हृदेश कुमार, चंद्रप्रकाश दीक्षित, मोहनलाल गौड़, इमरान हुसैन, दीपक कुमार, विशाल भारतीय, आफताब हुसैन, विनोद श्रीवास्तव, हर्ष वर्मा, अमित औदिच्य, सुरेश गुप्ता, जुल्फिकार खांन, धर्मेन्द्र श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे।

Author: MNI NEWS