बैंक पालिका में शिविर लगाकर देंगे वेंडरों को ऋण

फर्रुखाबाद: प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर योजना के तहत लाभार्थियों को बैंकों ने ऋण मुहैया नहीं कराया। अब लक्ष्य की प्राप्ति के लिए पालिका सभागार में निर्धारित तिथियों पर बैंक शिविर लगाकर पात्रों को ऋण देंगे। ईओ ने आवंटित तिथियों की सूचना एलडीएम (लीड बैंक प्रबंधक) को भेज दी है। यही नहीं सफाई नायकों को भी वेंडर लाने के लिए लक्ष्य दिया गया है।

नगर पालिका परिषद को 8300 वेंडरों को ऋण देने का लक्ष्य दिया गया था। अभी तक 6700 वेंडरों के प्रार्थना पत्र ही ऑनलाइन किए जा सके। इनमें से 4215 वेंडरों को बैंकों ने अभी तक ऋण मुहैया नहीं कराया। बैंकों की इस लापरवाही पर शासन सख्त है। यही नहीं नगर पालिका को भी लक्ष्य पूर्ति के लिए निर्देश जारी किए हैं। इसी के चलते ईओ ने एलडीएम को पत्र भेजकर निर्धारित तिथियों पर पालिका सभागार में शिविर लगाकर ऋण देने को कहा है।

इन तिथियों में लगेंगे शिविर
पालिका में पीएनबी का शिविर 22 फरवरी, बैंक ऑफ इंडिया का 23 फरवरी, सेंट्रल बैंक का 24 फरवरी, आर्यावर्त ग्रामीण बैंक का 25 फरवरी, यूनियन बैंक का 1 मार्च, बैंक ऑफ बड़ौदा का 2 व 3 मार्च, इलाहाबाद बैंक और बैंक ऑफ महाराष्ट्रा का 4 मार्च, यूको व केनरा बैंक का 5 मार्च तथा इंडियन बैंक, आईडीबीआई और अन्य बैंकों का शिविर छह मार्च को लगाया जाएगा। ईओ रविंद्र सिंह ने पात्रों को सुबह 10 से शाम चार बजे तक पहुुंचने के लिए कहा है।

बीओबी में 1000 पत्रावली लंबित
बैंक ऑफ बड़ौदा (बीओबी) में 1017 पात्र वेंडरों को अभी तक ऋण नहीं दिया गया है। बैंक ऑफ इंडिया 927, पीएनबी 446, ग्रामीण बैंक 942 समेत अन्य बैंकें अभी तक कुल 4215 लोगों को ऋण नहीं दे सकीं।

37 कर्मियों को पंजीकरण कराने का दिया लक्ष्य
अधिशासी अधिकारी रविंद्र कुमार ने 8300 के लक्ष्य की प्राप्ति के लिए पालिका के 37 कर्मियों को लक्ष्य दिया है। इनमें से 25 कर्मियों को 50-50 और 11 को 30-30 नए वेंडरों के पंजीकरण कराने के निर्देश दिए हैं। कहा कि हर हाल में लक्ष्य से बचे 1600 वेंडरों के रजिस्ट्रेशन कराने हैं। इसमें लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी।