रखना चाहते हैं दिल को स्वस्थ,तो इन चीजों का सेवन करने से बचें

नई दिल्ली: देश में 5 करोड़ से अधिक लोग कार्डियोवैस्कुलर रोग से पीड़ित हैं। यह आंकड़े 2016 की रिपोर्ट की है। इस रिपोर्ट में यह बताया गया है कि चार में से एक व्यक्ति की मौत कार्डियोवैस्कुलर बीमारी के चलते होती है। इस बीमारी से बचाव के लिए लोगों को अपने खानपान पर विशेष ध्यान देना चाहिए। इसके लिए आपको इन चीजों से परहेज करना चाहिए।

आइसक्रीम

विशेषज्ञों की मानें तो 1 दिन में 300 मिलीग्राम से अधिक कोलेस्ट्रॉल का सेवन नहीं करना चाहिए। कुछ आइसक्रीम में 100 मिलीग्राम कोलेस्ट्रॉल होता है। इसके लिए आइसक्रीम खाते समय कोलेस्ट्रॉल पर जरूर ध्यान देना चाहिए। वही कैलाश कॉल में संतृप्त सेट भी होता है क्योंकि दिल के लिए सही नहीं रहता है।

बेक्ड चीजों से दूर रहें

बेक्ड चीजों में चीनी की मात्रा अधिक होती है। साथ ही संतृप्त वसा भी इसमें अधिक होता है। वहीं, पोषक तत्वों की कमी होती है। यह बैड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है, जो दिल की बीमारियों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है।

फ्रेंच फ्राइज

हम सभी फ्रेंड प्राइस खूब पसंद करते हैं। दिल के लिए यह 3 गुना अधिक खतरनाक होता है। इसमें कार्बोहाइड्रेट्स बहुत अधिक होता है, जिससे ब्लड शुगर लेवल बढ़ता है। वहीं, फ्रेंच फ्राइज में केवल नमक और फैट होता है। अत: बहुत कम मात्रा में इसका सेवन करें।

सोडा

विशेषज्ञों की मानें तो दिल के लिए सोडा भी सही नहीं होता है। इससे इंसुलिन स्पाइक करता है, जिससे वजन बढ़ता है। साथ ही सूजन बढ़ती है। वहीं, कार्डियोवैस्कुलर रोग का खतरा बढ़ जाता है।

कैंडी

यह मायने नहीं रखता है कि कैंडी कौन सी फ्लेवर की है। इसमें चीनी होती है। इससे शरीर में फैट जमा हो सकता है, जो हार्ट डिजीज को न्योता दे सकता है।

फ्राइड चिकन

ग्रील चिकन वजन कम करने के लिए बेहतरीन होता है, लेकिन जब चिकन को डीप फ्राई कर लेते हैं, तो तो यह सेहत के लिए सही नहीं रहता है। फ्राइड चिकन में कोलेस्ट्रॉल अधिक होता है। इसके लिए दिल को सेहतमंद रखना चाहते हैं, तो फ्राइड चिकन के बदले ग्रील चिकन को चुनें।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Author: MNI NEWS