March 3, 2021

https://www.modernnewsindia.com

www.modernnewsindia.com

घोर अनियमितताओं तथा अव्यवस्थाओं के कारण नगर पालिका सफाई कर्मचारियों के परिवार भुखमरी की कगार परः विनोद

सफाई कर्मियों को 5 माह से नहीं मिला वेतन निर्धारित दैनिक वेतन से कम पर कराया गया काम

निरीक्षण करने आए सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य तथा सफाई कर्मचारी संघ प्रदेश उपाध्यक्ष ने ईओ की शिकायत मुख्यमंत्री से करने की कहीं बात
कायमगंज /फर्रुखाबाद: कभी प्रदेश में आदर्श नगर पालिका परिषद के रूप में कहीं जाने वाली नगर पालिका परिषद कायमगंज का हाल इस समय अनियमितताओं के घेरे में आता दिखाई दे रहा है। क्योंकि आज राज्य सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य कमल सिंह बाल्मीकि व उनके साथ आए उत्तर प्रदेश स्थानीय नगर निकाय कर्मचारी संघ के उपाध्यक्ष विनोद इलाहाबादी ने कायमगंज पहुंच कर नगरपालिका का निरीक्षण किया।

निरीक्षण के उपरांत मीडिया से बात करते हुए विनोद इलाहाबादी ने कहा कि वे आयोग के सदस्य के साथ प्रदेश की नगर पालिका सहित अन्य स्थानीय नगर निकायों में कार्यरत सफाई कर्मचारियों एवं मजदूरों की समस्याओं को समझने तथा उनकी स्थिति की जानकारी करने के लिए भ्रमण पर निकले हैं। विनोद इलाहाबादी ने बताया कि कायमगंज से पहले वे लगभग 13 नगर पालिकाओं का भ्रमण कर चुके हैं। कायमगंज की नगर पालिका परिषद की स्थिति सबसे ज्यादा खराब मिली है। उन्होंने कहा कि यहां अनियमितताओं तथा अव्यवस्थाओं का बोलबाला है। इलाहाबादी ने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि इस नगर पालिका में मजदूरी बेस पर कार्यरत सफाई कर्मचारियों को पिछले 5 महीने से वेतन तक नहीं दिया गया है।

वहीं राज्य सरकार द्वारा निर्धारित ₹318 प्रतिदिन के स्थान पर मात्र 259 रुपया दिहाड़ी के हिसाब से मजदूरों को भुगतान किया जा रहा है। यह अन्याय उन कर्मचारियों के साथ किया जा रहा है। जिन्होंने कोरोना काल में अपनी जान की बाजी लगाकर नगरवासियों की सेवा की। आज उन्हीं का परिवार तथा बे खुद तबाह होकर भुखमरी के कगार पर पहुंच गए हैं। कर्मचारियों के साथ भेदभाव की नीति अपनाने की बात कहते हुए उन्होंने बताया कि कुछ कर्मचारी जो अधिशासी अधिकारी के चहेते हैं।

उन्हें उनके मूल कार्य से हटाकर कार्यालय तथा अन्य स्थानों पर दूसरे कामों पर लगा रखा है। यह कृत्य प्रदेश के मुख्यमंत्री के आदेशों की खुली अवहेलना करना है। इसके अतिरिक्त मनमाने ढंग से कुछ कर्मचारियों को निकाल कर बेरोजगार बना दिया गया है। इन सारे कार्यों के लिए उन्होंने सीधे अधिशासी अधिकारी सीमा तोमर को जिम्मेदार बताते हुए कहा कि इस संबंध में विस्तृत रूप से रिपोर्ट तैयार कर ईओ की शिकायत मुख्यमंत्री जी से करेंगे।

वही इन आरोपों की एक प्रकार से पुष्टि करते हुए राज्य सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य कमल सिंह बाल्मीकि ने कहा कि वे कर्मचारियों का दुख दर्द बांटने एवं उनके साथ अन्याय न हो ,कोई उत्पीड़न न कर सके। इसी उद्देश्य को लेकर भ्रमण पर निकले हैं। उन्होंने माना कि कायमगंज नगर पालिका में कर्मचारियों के साथ ऐसा सब कुछ हो रहा है।

उनके अनुसार उन्होंने कर्मचारियों का बकाया वेतन भुगतान करने तथा कम भुगतान की गई धनराशि का एरियर सहित पूरा भुगतान करने के प्रकरण में नपा अध्यक्ष तथा अधिशासी अधिकारी से लिखित ले लिया है। उसके अनुसार पूरा भुगतान मार्च 2021 तक करने का आश्वासन दिया गया है। यह पूछे जाने पर कि यदि समय सीमा में कर्मचारियों को राहत नहीं मिली। तो आप क्या कदम उठाएंगे। आयोग के सदस्य ने बताया कि बे इस संबंध में मिले आश्वासन पत्र की प्रति संलग्न कर पूरी रिपोर्ट शासन को सौंप देंगे। इसके बाद अनियमितताएँ पाए जाने पर आवश्यक कार्यवाही अवश्य होगी।