March 3, 2021

https://www.modernnewsindia.com

www.modernnewsindia.com

सिविल अस्पताल लिंजीगंज में प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ0 मो0 आरिफ ने लगवाया कोरोना का टीका

डॉ राममनोहर लोहिया चिकित्सालय महिला के सीएमएस डॉ कैलाश दुल्हानी ने लगवाया कोरोना का टीका
कहा टीका लगवाने से अब हुआ बेफिक्र लेकिन अभी मास्क और दो गज की दूरी है जरुरी
शुक्रवार को जिले के —- लोगों को लगा कोविड-19 का टीका
प्रतिरक्षित लोगों को 19 फरवरी को दी जाएगी दूसरी डोज अगला सत्र 28 और 29 जनवरी को
फर्रुखाबाद: (MNI NEWS)
जिले में डॉ राममनोहर लोहिया चिकित्सालय महिला के सीएमएस डॉ कैलाश दुल्हानी ने तो वहीँ सिविल अस्पताल लिंजीगंज के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ मो आरिफ सिद्दीकी ने कोरोना नाम की महामारी से अपने को सुरक्षित रखने के लिए कोरोना का टीका लगवाया | शाम पांच बजे तक जिले के —– लोगों को कोविड–19 टीका से प्रतिरक्षित किया गया। प्रतिरक्षित लोगों को कोविड – 19 टीका की अगली डोज के लिए 19 फरवरी की तारीख दी गई है। इसके लिए उनके मोबाइल पर मैसेज भी आएगा।

अब कोरोना नाम की महामारी के दिन लदने शुरू हो गये हैं कहीं किसी से कोई गलती न हो जाये और सभी स्वास्थ्य कर्मियों का मनोवल न गिरने पाए इसके लिए जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ प्रभात वर्मा ने सिविल अस्पताल लिंजीगंज, सीएचसी बरौन और मोहम्दाबाद का निरीक्षण किया|
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ वंदना सिंह ने बताया कि जनपद में कोरोना को मात देने के लिए पहला चरण 16 जनवरी को चलाया गया था जिसमें 152 लोगों ने कोरोना का टीका लगवाया था|
सीएमओ ने कहा कि भारत में विकसित कोरोना वैक्सीन पूरी तरह प्रभावी है। कोल्ड चेन के मानकों को पूर्ण करते हुये यह वैक्सीन जिले में आई है। अत्याधुनिक तकनीक से हम कोल्ड चेन बनाए हुये हैं।

सीएमओ ने बताया कि पहले डोज के बाद दूसरा डोज 28वें दिन लगेगा। टीका लगने के बाद आधे घंटे तक टीकाकरण केंद्र पर रुकना होगा। प्रतिरक्षित व्यक्ति को यदि बेचैनी या किसी भी तरह की समस्या होती है तो निकटतम स्वास्थ्य अधिकारियों, एएनएम और आशा को इसकी सूचना दें। इसके लिए एंबुलेंस सेवा 108 भी उपलब्ध रहेगी। प्रतिरक्षित व्यक्ति भी कोरोना अनुरूप व्यवहारों जैसे मास्क पहनना, हाथ की सफाई और 6 फीट की शारीरिक दूरी बनाये रखने का पालन करें।

उन्होंने बताया कि उच्च जोखिम वाले समूहों को प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण के लिए चिन्हित किया गया है। इन्हें तीन समूहों में बांटा गया है- पहले समूह में हेल्थकेयर वर्कर, दूसरे समूह में फ्रंटलाइन वर्कर, तीसरे समूह में 50 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्ति तथा जो पहले से ही किसी रोग से ग्रसित हैं।
जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ प्रभात वर्मा ने बताया कि कोई व्यक्ति बिना पंजीकरण के कोरोना वैक्सीन नहीं प्राप्त कर सकता है। कोरोना वैक्सीनेशन के लिए पंजीकरण के बाद ही सत्र स्थल और समय की जानकारी दी जायेगी। फोटो आईडी पंजीकरण और सत्यापन दोनों के लिए जरूरी है। ऑनलाइन पंजीकरण के बाद लाभार्थी को वैक्सीनेशन की नियत तिथि, स्थान और समय के बारे में मोबाइल पर एसएमएएस प्राप्त होगा। कोरोना वैक्सीन की उचित खुराक मिलने पर लाभार्थी को उनके मोबाइल नंबर पर एक क्यूआर कोड आधारित प्रमाण पत्र भी भेजा जायेगा।

डीआईओ ने बताया कि जिले में शुक्रवार को 6 केन्द्रों डॉ राममनोहर लोहिया चिकित्सालय महिला पुरुष में एक एक सत्र, मोहम्दाबाद सीएचसी पर तीन, कमालगंज पर दो, बरौन पर दो और सिविल अस्पताल लिंजीगंज में दो मिलाकर कुल 11 सत्र आयोजित किए गए । इस दौरान जनपद के 1100 लोगों को प्रतिरक्षित किया जाना था जिसके सापेक्ष ——लोगों को कोरोना का टीका लगा | साथ कहा की अगला सत्र 28 और 29 जनवरी को होगा|

सिविल अस्पताल लिंजीगंज के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ आरिफ ने कहा कि किसी को कोरोना के टीके से डरने की जरुरत नहीं है हम सभी को इसको लगवाना जरुरी है|
डॉ राममनोहर लोहिया चिकित्सालय के सीएमएस डॉ कैलाश दुल्हानी ने कहा कि मैंने आज टीका लगवा लिया है और मुझे कोई परेशानी नहीं हुई है सभी लोग अपनी बारी आने पर टीका जरुर लगवाएं|
सत्यापन के लिए आवश्यक
अगर आप कोविड–19 टीकाकरण के लिए जा रहे हैं तो अपना एक पहचान पत्र ले आना न भूलें। इसमें आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आइडी एवं पैन कार्ड, पासपोर्ट, जॉब कार्ड, पेंशन दस्तावेज, मनरेगा कार्ड, स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, सांसदों, विधायकों, एमएलसी को जारी आधिकारिक प्रमाण पत्र, बैंक, पोस्ट ऑफिस की पासबुक, केंद्र, राज्य सरकार या पब्लिक लिमिटेड कंपनियों द्वारा जारी सेवा आईडी कार्ड आदि में कोई एक हो सकता है।

इस दौरान एसीएमओ डॉ दलवीर सिंह, उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ राजीव शाक्य, डॉ दीपक कटारिया, एसएमओ शिवानी भंडारी, यूनिसेफ से डीएमसी राजीव चौहान, यूएनडीपी से मानव, चाई से शवाव हुसैन रिजवी आदि लोग मौजूद रहे |