श्रावस्‍ती: मुखबिर की न‍िर्मम हत्‍या, वन माफिया ने कुल्हाड़ी से काटकर जंगल में फेंका शव

श्रावस्ती: सिरसिया थाना क्षेत्र के गब्बापुर गांव निवासी वन विभाग के मुखबिर की जंगल में कुल्हाड़ी से गला काटकर हत्या कर कर दी गई। लगभग 48 घंटे बाद सोमवार की देर रात पुलिस ने रामपुर बांध के निकट अररहवा सोतिया के पास से शव बरामद कर लिया। मृतक की पत्नी की तहरीर पर चार लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर पुलिस आराेपितों की तलाश कर रही है। एसपी ने सिरसिया थाने पर पहुंच कर स्थिति का जायजा लिया। गांव में पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है। 

गब्बापुर गांव निवासी नान्हे रविवार की सुबह अपने घर पर परिवार के साथ चाय पी रहे थे। इसी दौरान उनके मोबाइल फोन पर फोन कर गांव के ही एक व्यक्ति ने जंगल में चोरी से पेड़ काटे जाने की सूचना दी। यह जानकारी मिलने के बाद नान्हे जंगल की ओर चले गए। दोपहर बाद तक घर न लौटने पर परिवार के लोगों ने उन्हें फोन किया तो उनका फोन स्विच ऑफ बता रहा था। पत्नी सन्ना ने पर्यावरण प्रेमी निहारिका सिंह को फोन कर इसकी जानकारी दी और पति के बारे में पूछा। इस पर उन्होंने भी अनभिज्ञता जताई। इसके बाद परिवार के लोगों को अनहोनी की आशंका हुई। निहारिका सिंह ने सिरसिया थाने पहुंचकर पुलिस को प्रकरण से अवगत कराया। घर पहुंच कर पुलिस ने मामले की पड़ताल की।

पर्यावरण प्रेमी के साथ पुलिस टीम उसकी तलाश के लिए जंगल में पहुंची। रात एक बजे तक खोजबीन होती रही, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं लगा। सोमवार सुबह पत्नी सन्ना ने थाने पर गुमशुदगी की तहरीर दी। मुकदमा दर्ज कर पुलिस फिर से तलाश में जुट गई। परिवार के लोगों व जंगल के आसपास क्षेत्र के ग्रामीणों की मदद से रात करीब 10 बजे संरक्षित वन क्षेत्र पूर्वी सोहेलवा के कंपार्ट नंबर तीन रामपुर बांध से निकले अररहवा सोतिया के पास से उसका का शव बरामद किया गया। पुलिस अधीक्षक अरविंद कुमार मौर्य रात में सिरसिया थाने पर पहुंच गए। पुलिस के मुताबिक मृतक की कुल्हाड़ी से गला काट कर हत्या किए जाने की संभावना है। यह घटना क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी हुई है।

स्थानीय लोगों का कहना है कि नान्हे जंगल में पेड़ पौधों की कटान रोकने के लिए लगातार प्रयासरत थे। उनकी कोशिश से वन माफियाओं का धंधा चौपट हो गया था। उसे रास्ते से हटाने के लिए सुनियोजित ढ़ंग से उसकी हत्या कर दी गई है। सोहेलवा वन्य जीव प्रभाग के प्रभागीय वनाधिकारी रजनीकांत मित्तल ने बताया कि मृतक वन विभाग का मुखबिर था। सिरसिया थानाध्यक्ष रामसमुझ प्रभाकर ने बताया कि मृतक की पत्नी की तहरीर पर चार लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। विवेचना की जा रही है।