ट्रेन की चपेट में आने से मानसिक रोगी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत


कायमगंज/फर्रुखाबाद: (MNI NEWS) कोतवाली क्षेत्र कायमगंज के गांव नरसिंहपुर निवासी महेश चंद्र श्रीवास्तव का 28 वर्षीय पुत्र संदीप कुमार मानसिक रोगी था। जिसका उपचार फर्रुखाबाद के एक मानसिक रोग विशेषज्ञ निजी चिकित्सक के यहां से चल रहा था। मृतक दिल्ली में रहकर अपने परिवार के भरण पोषण के लिए स्पोर्ट्स के कपड़ों की सिलाई का काम करता था। पिता के अनुसार संदीप अभी पांच-छह दिन ही दिल्ली से घर वापस आया था ,और वह 2 दिन पहले शाम लगभग 6ः00 बजे बिना बताए अचानक ही घर से गायब हो गया था। जिसकी खोज खबर रिश्तेदारी तथा संभावित स्थानों पर करते हुए सूचना व्हाट्सएप पर भी डाल दी थी।किंतु कोई पता नहीं चला।

प्रातः रेलवे गैंगमैन रेलवे ट्रैक से होकर जा रहा था। उसने रेलवे ट्रैक के किनारे एक शव पड़ा देखा। इसकी सूचना मिलते ही मृतक के पिता महेश चंद्र, ग्राम प्रधान, मृतक के परिजन तथा काफी संख्या में ग्रामीण मौके पर पहुंचे । संदीप का शव कासगंज-कानपुर रेलवे लाइन की रेलवे स्टेशन कायमगंज की पूर्वी केबिन से कुछ आगे मृतक के ही गांव तथा उसी के अमरूद के बाग के सामने पड़ा था। मौके पर पहुंचे मृतक के पिता तथा अन्य लोगों ने शव की शिनाख्त संदीप श्रीवास्तव के रूप में की है।

मृत्यु की सूचना मिलते ही मृतक के परिवार में कोहराम मच गया। मृतक अपने पीछे अपनी पत्नी पूनम तथा दो नाबालिग बेटों को छोड़कर इस दुनिया से हमेशा के लिए चला गया। उसके पिता महेश चंद ने बताया कि जब संदीप घर से गया था। उससे पहले ही से उसके पास 8 या 10 हजार रुपए भी थे। किंतु मृतक के पास से कोई भी रुपया नहीं मिला। पिता ने अनुमान लगाया कि उसका बेटा मानसिक रोगी होने के कारण किसी ट्रेन की चपेट में आ गया होगा, और इसी कारण उसकी अकाल ही मृत्यु हो गई। मृतक के सिर सीने हाथ पैरों तथा शरीर के अन्य भागों में चोटों के गहरे निशान दिखाई दे रहे थे। मृतक के शव को बगैर पुलिस को सूचना दिए ही परिजन अंतिम संस्कार के लिए मौके से लेकर चले गए थे।