किसान आलू व मक्का उत्पादन पर सहकारी योजना बनाकर करके अच्छा लाभ पाने के लिये कार्य करेंः मुकुट बिहारी


जिला नियोजन एवं अनुश्रवण समिति की बैठक में 254,53 करोड़ का बजट पारित
जिला उद्योग केन्द्र की योजनाओं के अन्तर्गत 9 लाभार्थियों को डमी चेक से 1 करोड़ 29 लाख का ऋण किया वितरित
फर्रूखाबाद
: उत्तर प्रदेश शासन के सहकारिता एवं फर्रूखाबाद जिला प्रभारी मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने बताया कि प्रदेश के मथुरा में आलू चिप्स का कारखाना सरकार ने नहीं लगाया बल्कि दिल्ली की एक प्राइवेट कम्पनी ने लगाया है ऐसे में रिकार्ड आलू उत्पादन करने वाले फर्रूखाबाद के किसान आलू एवं मक्का उत्पादन पर, सहकारी योजना बनाकर करके अच्छा लाभ पाने के लिये कार्य करें।

यहां मुख्य अतिथि पद से श्री वर्मा ने दोपहर करीब 1 बजे जिला मुख्यालय फतेहगढ़ स्थित कलेक्ट्रेट सभागार में जिला नियोजन एवं अनुश्रवण समिति की बैठक में भाग लेते हुये जिला योजना संरचना 2020-21 हेतु 254 करोड़ 53 लाख का परिव्यय पास करने के साथ ही जिला उद्योग केन्द्र की योजनाओं के अन्तर्गत 9 लाभार्थियों को डमी चेक से 1 करोड़ 29 लाख का ऋण भी वितरित किया।
प्रदेश में छोटे किसानों को बिजली बकायेदारी में विद्युत विभाग के अधिकारियों द्वारा परेशान किये जाने की मिलने वाली शिकायतों पर उन्होने कहा कि किसानों की समस्याओं को ध्यान में रखते विद्युत विभाग को सुनिश्चित आपूर्ति करनी चाहिए। किसी प्रकार की समस्या किसानों के समक्ष पैदा न हो तथा विद्युत चेकिंग के समय बड़े बकायेदारों पर कार्यवाही की जाये। कमजोर वर्ग के किसानों को परेशान न किया जाये ताकि किसान अपनी सिंचाई समय से कर सके।

उन्होने कहा कि बिजली विभाग किसानों को रात्रि में उपलब्ध कराये जाने की व्यवस्था में परिवर्तन करके दिन में भी किसानों को सिंचाई के लिये बिजली उपलब्ध कराये ताकि किसान दिन में अपनी खेती की सिंचाई व्यवस्थित ढंग से कर सकें।

प्रदेश में ग्राम पंचायतों के चुनाव समीपस्त होने की चर्चा करते हुये सहकारिता मंत्री श्री वर्मा ने कहा कि राशन कोटेदारों की शिकायतें ज्यादा आ रहीं है ऐसे में ग्राम सभाओं में पंचायतों की बैठक बुलाकर कई राशन कोटेदारों का चयन किया जाना चाहिए। प्रदेश में महिला उत्पीड़न के मामले पर उन्होने कहा कि पीड़ित महिला पक्ष की पुलिस रिपोर्ट दर्ज करे और आरोपी की गिरफ्तारी करके पीड़ित महिला को न्याय दिलवाये। जिला नियोजन एवं अनुश्रवण समिति की बैठक में भाजपा सांसद मुकेश राजपूत ने बेवर से फर्रूखाबाद रामगंगा तक 7 मीटर चौड़े हाईवे मार्ग को 12 मीटर चौड़ा किये जाने की जोरदार मांग की।

फर्रूखाबाद जिले के गंगा किनारे सरकारी जमीनों पर खेती करने वालों से कब्जा छुड़ाये जाने के मामले को लेकर हो रही परेशानियों पर उन्होने कहा कि गंगा तटवर्तीय सरकारी जमीन पर खेती नहीं होनी चाहिए। जिस पर जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह ने बताया कि गंगा के किनारे खेती करने वाले किसानों को पट्टे पर निर्धारित अवधि तक के लिये जमीन दी जाती है।

इस दौरान बैठक में सांसद मुकेश राजपूत, विधायक भोजपुर नागेन्द्र सिंह राठौर, विधायक अमृतपुर सुशील शाक्य, विधायक कायमगंज अमर सिंह खटिक, भाजपा जिलाध्यक्ष रूपेश गुप्ता, फर्रूखाबाद नगर पालिका अध्यक्ष वत्सला अग्रवाल, पुलिस अधीक्षक डॉ0 अनिल कुमार मिश्र, मुख्य विकास अधिकारी राजेन्द्र पैंसिया, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 वन्दना सिंह, परियोजना निदेशक डीआरडीए, प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी, अपर जिलाधिकारी विवके श्रीवास्तव आदि सदस्य एवं संबंधित अधिकारी आदि उपस्थित रहे।