नगर पालिका कर्मचारी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत


कायमगंज फर्रुखाबाद: नगर के मोहल्ला चिलाका निवासी कुतुबुद्दीन उर्फ बबलू उम्र लगभग 38 वर्ष को रात में बदहवास हालत में उपचार के लिए नगर के सीएचसी अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां कुछ देर ही उपचार चल पाया था कि उसकी मौत हो गई। मृतक अपने पिता निजामुद्दीन की मौत के बाद मृतक आश्रित के रूप में नगर पालिका में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के पद पर वर्ष 2007 में नियुक्त हुआ था।

मृतक अपने पीछे पत्नी परवीन एवं 5 बेटियों का परिवार छोड़कर चला गया।इन आश्रितों के भरण-पोषण की परिवार के पास कोई व्यवस्था नहीं है। केवल मृतक ही इनका खेवनहार था। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नगर पालिका के एक अधिकारी से अभद्रता करने के आरोप में उसे कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था। जिसका स्पष्टीकरण उसने दे भी दिया था। उधर कुछ महीनों से इसे वेतन भी प्राप्त नहीं हुआ था।

इस संबंध में नगरपालिका का कहना है कि अभी हाल में ही अन्य कर्मचारियों के साथ कुतुबुद्दीन का भी 1 महीने का वेतन उसके बैंक अकाउंट में उपलब्ध कराया जा चुका है। जैसी नगर पालिका की ड्यूटी तथा घरेलू आर्थिक तंगी व अन्य समस्याओं से परेशान कुतुबुद्दीन पिछले कुछ समय से अवसाद ग्रस्त जैसा रह रहा था। संभावना व्यक्त की जा रही है कि अवसाद की स्थिति के चलते उसने शायद किसी जहरीले पदार्थ का सेवन कर लिया होगा। इसी कारण उसकी मौत हो गई।

अवसाद ग्रस्त नगर पालिका कर्मी ने की आत्महत्या
कायमगंज/फर्रुखाबाद: नगर पालिका परिषद कायमगंज में मोहल्ला चिलांका निवासी कुतुबुद्दीन उर्फ बबलू उम्र लगभग 36 वर्ष चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के रूप में कार्यरत था। इसकी नियुक्ति इनके पिता निजामुद्दीन की मौत के बाद मृतक आश्रित के रूप में हुई थी। कुतुबुद्दीन से पहले पिता निजामुद्दीन इसी पालिका में सेवारत रहे। उनकी मृत्यु के उपरांत मृतक आश्रित के रूप में कुतुबुद्दीन की नियुक्ति नगर पालिका द्वारा की गई थी।

अपनी ड्यूटी के समय सही ढंग से काम न करने तथा अन्य आरोप के कारण मृतक को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। हालांकि जारी नोटिस का स्पष्टीकरण तो कुतुबुद्दीन ने दे दिया था। किंतु पिछले कुछ समय से वेतन रुका होने के कारण वह आर्थिक तंगी की वजह से परेशान रहता था। नगर पालिका का कहना है कि अभी-अभी अन्य कर्मचारियों के साथ ही कुतुबुद्दीन का भी एक माह का बेतन उसके बैंक खाते में उपलब्ध करा दिया गया है।

पालिका ड्यूटी तथा नोटिस अथवा किसी घरेलू समस्या से परेशान रहने के कारण वह कुछ दिनों से अवसाद ग्रस्त जैसी स्थित मैं आ गया था। बृहस्पतिवार दिनांक 15 अक्टूबर की रात में उसने किसी जहरीले पदार्थ का सेवन कर आत्महत्या कर ली। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक के शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय फतेहगढ़ भिजवा दिया।