आलू की खेती हुई मंहगी,बारिश न होने से पलेवा कर रहे किसान


फर्रुखाबाद:अगेती आलू को अब मौसम अनुकूल होने लगा है। रात के समय मौसम में ठंडक को देखते हुए किसान अगेती आलू की तैयारी में जुट गए हैं। बारिश न होने से खेतों के पलेवा किए जा रहे हैं। शीतगृहों से आलू बीज घरों और फर्महाउस ले जाए जाने लगे हैं। आलू की अगेती खेती जिले में एक बड़े रकवे में की जाती है। मौसम अनुकूल न होने के चलते आलू की अगेती फसल पिछले वर्ष की अपेक्षा लगभग 20 दिन बिछड़ गई है। अब जब मौसम में बदलाव हुआ है तो किसान अगेती खेती की तैयारी में जुट गए हैं। शीतगृहों से लेकर खेतों की ओर किसान दौड़ पड़े हैं। आलू का भाव अच्छा चल रहा है ऐसे में किसानो को उम्मीदें हैं कि अगेती आलू का भाव भी अच्छा रहेगा। इसलिए आलू की अगेती खेती का रकबा बढ़ने की उम्मीद जताई जा रही है।

बारिश न होने से किसानों पर खेतों का पलेवा करने का भार बढ़ गया है। मौसम में ठंडक होते ही किसान शीतगृहों से आलू की निकासी करने लगे हैं। खाद बीज का भी किसान स्टक कर रहे हैं। किसानों ने बताया कि मौसम के चलते पहले ही आलू की खेती पिछड़ गई है। अब वह अगेती खेती को और पिछाड़ना नहीं चाहते हैं। वहीं दूसरी ओर तापमान अधिक होने और धूप में तेजी को देखते हुए किसान अगेती आलू की बुआई कराने से कतराते रहे हैं। लेकिन इन सबके बीच जिले के कई गांव में अगेती आलू की बुआई कर दी गई है। पटपटन नगला के किसानों ने इसमें बाजी मार दी है। यहां कई किसानों ने खेतों में आलू लगा दिए हैं। इसके साथ ही मोहम्मदाबाद व नबावगंज के कई गांव में आलू की बुआई की गई है।