देश में ग्रामीणों से गरीबी हटी नहीं और गैरबराबरी बढ़ गईः के0एन0 गोविन्दाचार्य


फर्रूखाबादः पूर्व राष्ट्रीय महासचिव एवं आरएसएस प्रचारक के0एन0 गोविन्दाचार्य का मानना है कि देश में ग्रामीणों से गरीबी हटी नहीं और गैरबराबरी बढ़ गई।

उत्तर प्रदेश के देव प्रयाग से 1 सितम्बर से आगामी 2 अक्टूबर गांधी जयंती गंगा सागर तक गंगा यात्रा अध्यन प्रवास पर निकले श्री गोविन्दाचार्य आज शनिवार करीब 10 बजे फर्रूखाबाद शहर में भोलुपर स्थित एक कानवेंट में संवाददाताओं से बातचीत कर रहे थे। उन्होने बताया कि वर्ष 1980 में ‘‘सैकुलर वाद ने, समाजवाद का अपहारण कर लिया’’ जिससे देश की अर्थव्यवस्था प्रभावित हुई, देश में ग्रामीणों से गरीबी हटी नहीं और गैरबराबरी बढ़ गई। इसके चलते कमजोर वर्ग का नुकसान हुआ, किसानों का भला नहीं हो सका।

वर्ष 2000 में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव पद छोड़ने के प्रश्न पर उन्होने कहा कि राजनीति में रहकर हम जनता की सेवा नहीं कर सकते थे, अब संघ में रहकर जनता की सेवा कर रहे है। वर्ष 1978 नानाजी देशमुख के राजनीति छोड़कर चित्रकूट में कृषि रिसर्च केन्द्र खोलने का जिक्र करते हुये श्री गोविन्दाचार्य ने बताया कि नानाजी ने बिना रसायनिक खाद के, जैविक खेती कैसे हो, किसान फसल का अच्छा उत्पादन ले सकें के अध्ययन को आगे बढ़ाया और आज किसानों का झुकाव जैविक खेती की ओर बढ़ा है। इसी क्रम में सयाना में भारत भूषण ने कम लागत से खेती में फसल कैसे उगाई जाये यहां से मैंने अध्ययन किसानों के हित में सीखा है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को अपना प्रिय मित्र बताते हुये उन्होने कहा कि श्री मोदी ने आत्मनिर्भर भारत की घोषणा की है, वो स्वयं अपने निजी एवं राजनीतिक जीवन में भारत की व्यवस्थाओं को ठीक से समझ चुके हैं। मैं आत्मनिर्भर भारत के लिये उनकी सफलता के लिये कामना करता हूं।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यों से क्या आप संतुष्ट के उत्तर में श्री गोविन्दाचार्य ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यों का अध्ययन करने की आवश्यकता है, श्री मोदी ने कई राष्ट्रवादी कार्य किये। जैसे धारा 370 हटाना, तीन तलाक हटाना तथा रामंदिर निर्माण आदि के कार्य देश के लिये बेमिसाल है। इस अवसर पर भाजपा जिला उपाध्यक्ष डॉ0 प्रभात अवस्थी, गंगा यात्रा नगर संयोजक सुरेन्द्र पाण्डेय एवं आरएसएस के कार्यकर्ता मौजूद रहे।