अवैध खनन की शिकायत करने के सक में युवक का अपहरण करने का किया प्रयास


फर्रूखाबाद: अवैध खनन की मुकबरी के शक में अवैध खनन करने वाले खनन माफिया ने साथियों के साथ मिलकर युवक को मारपीट कर कार में डालकर अपहरण का प्रयास किया।

कस्बा नवाबगंज में गाड़ी में मारपीट कर रिवाल्वर तमंचे की बटों से पीटा चौराहे पर ड्यूटी कर रहे थाने के पुलिसकर्मी तथा पीआरवी गाड़ी खड़ी थी। युवक पुष्पेंद्र की चीख-पुकार की आवाज सुनकर ड्यूटी कर रहे पुलिसकर्मियों तथा पीआरवी जवानों ने जब तक गाड़ी का पीछा किया अपहरणकर्ता युवक को गाड़ी से फेंक कर मोहम्मदाबाद रोड की तरफ भाग गए। ज्ञात हो कि नवाबगंज क्षेत्र में बाहरी खनन माफिया रात होते ही दुनाया रोड मंझना रोड पर जेसीबी मशीन तथा 10ः12 ट्रैक्टरों के साथ अवैध खनन शुरू कर देते हैं

जिसकी शिकायत किसी व्यक्ति द्वारा उच्चाधिकारियों तथा खनन निरीक्षक से कर दी जिस पर खनन निरीक्षक राजीव रंजन ने रात्रि लगभग 12ः00 बजे मंझना रोड पर हो रहे अवैध खनन के स्थान पर छापा मारा जिससे अवैध खनन कर रहे जेसीबी तथा अन्य ट्रैक्टर चालक भगा ले गए।एक ट्रैक्टर को पकड़ लिया जिसे थाने पर लाकर खड़ा कर दिया गया तभी खनन माफिया सुशील कुमार पाल अपने 8 :10 गुर्गों के साथ अपनी स्विफ्ट डिजायर गाड़ी तथा तीन बाइकों पर सवार होकर मंझना रोड पर पहुंचे तभी वारग् गांव से अपनी कार से लौट रहे पुष्पेंद्र उर्फ किल्लू पुत्र रामनिवास निवासी गनीपुर को ब्रह्मदेव मंदिर के पास रोका और मोहम्मदाबाद जाने का रास्ता पूछा जिस पर उक्त पुष्पेंद्र ने सीधा रास्ता बताया इतना सुनते ही गाड़ी तथा बाइक पर सवार सुशील अंकित तथा उनके अज्ञात साथियों ने पुष्पेंद्र के साथ यह कहते हुए।

मेरी अवैध खनन की शिकायत की और मारपीट करने लगे तथा सुशील ने अपनीअपनी गोट से नाजायज़ पिस्टल निकालकर पुष्पेंद्र की कनपटी पर रख दी और अपनी गाड़ी में डालकर मोहम्मदाबाद रोड की तरफ ले जाने लगे गाड़ी में पुष्पेंद्र का मुंह दवा लिया जिससे कि पुष्पेंद्र की आवाज ना निकले तथा रिवाल्वर की बट तथा नाल से मारपीट करते हुए ले जा रहे थे नवाबगंज में चौराहे पर गस्त कर रहे थाने के पुलिसकर्मी तथा पीआरवी जवान खड़े थे गाड़ी में चीक की आवाज सुनकर पुलिस कर्मियों को शक हुआ अचानक पुलिसकर्मी अपहरणकर्ताओं की गाड़ी के पीछे दौड़े तथा पीआरवी गाड़ी को पीछे दौड़ाया तब तक अपहरणकर्ता अपहत् पुष्पेंद्र को गाड़ी से फेंक कर भाग गए पीड़ित ने थाने पर तुरंत फोन से तथा थाने जाकर सूचना दी। पीड़ित का निजी हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है।