रक्षाबंधन त्योहार पर कायमगंज में पतंग उड़ाने की प्राचीन परम्परा


कायमगंज/फर्रूखाबाद: कोरोना काल में रक्षाबंधन त्योहार से एक दिन पहले पतंगों की दुकान पर भीड़ देखी गई। खास तौर पर बच्चों में खासा उत्साह देखा गया। रक्षाबंधन त्योहार पर कायमगंज क्षेत्र में पतंग उड़ाने की परंपरा प्राचीन है। रक्षाबंधन से पहले स्थानीय, फर्रुखाबाद व बरेली के पतंग बेचने वाले दुकानदार यहा आकर दुकाने खोल लेते है। इस बार कोरोना काल में आसमान में अच्छी खासी संख्या में पतंगे देखी जा रही है। लोग वीकएंड लॉकडाउन में छुट्टी होने के कारण छतों पर पहुंच कर पतंगे उड़ानें में मशगूल नजर आ रहे है। रविवार को पतंगों की दुकानों पर पतंग खरीदने वालों की भीड़ रही। बच्चों में खासा उत्साह देखा गया। वह अपने अभिभावकों के साथ खरीददारी करने पहुंचे।

दुकानदार तारिक, अनीस, मोहिउददीन आदि का कहना कि पतंग की बिक्री आधी रह गई है। बरेली का मांझा बिक रहा है। इस बार तीन रुपए में बिकने वाली पतंग पांच रुपए में बिक रही है। इसी तरह अन्य पतंगों के रेट में एक या दो रुपए की बढ़ोत्तरी हुई है। उन्होंने बताया पन्नी के पतंगों की बिक्री कम है। कागज की पतंगे इस बार ज्यादा बिक रही है।