अव्यवस्थाओं के बीच खुले परिषदीय विद्यालय, खौफजदा दिखाई दिये शिक्षक


कमालगंज/फर्रूखाबाद: परिषदीय विद्यालयों में शिक्षक पहले ही दिन कोरोना से खौफजदा दिखाई दिए। अव्यवस्थाओं के बीच स्कूल खोले गए। सेनीटाइज की व्यवस्था भी नहीं हो सकी । शिक्षको ने प्रशासन पर जीवन के साथ खिलवाड़ करने का आरोप लगाया है। शासन के आदेश के बाद बुधवार से परिषदीय स्कूल खोल दिए गए।

अपर मुख्य सचिव के आदेश के बाद भी स्कूलों को सेनेटाइज नहीं कराया गया। इसके चलते शिक्षकों में नाराजगी व्याप्त है। शिक्षकों का आरोप है कि शासन के आदेश के बाद भी स्कूलों को सेनेटाइज न कराना प्रशासनिक अधिकारियों की तानाशाही है। कमालगंज के रेलवे रोड बीआरसी परिसर में स्थित पूर्व माध्यमिक विद्यालय और प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक प्रांगण में पेड़ के नीचे एक साथ बैठे दिखाई दिए। यहां पूर्व माध्यमिक विद्यालय की प्रधानाध्यापिका वीना पांडेय, कदीर और प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक हुकुम सिंह, सुभाष चंद्र और शिक्षिका प्रियंका सिंह मौजूद मिली। यहां शिक्षक सुभाषचंद्र के अलावा कोई भी मास्क नही लगाये था। इसी परिसर में कन्या पूर्व माध्यमिक विद्यालय में इंचार्ज प्रधानाध्यापिका तिलत अफरोज शिक्षिका शीला सक्सेना और सोनी शाक्य मौजूद मिली। यह तीनों लोग मास्क लगाए थे।

यहां उपस्थिति पंजिका की तैयार की जा रही थी। क्वारंटाइन सेंटर बने प्राथमिक विद्यालय गौसपुर में प्रधानाध्यापिका गीता देवी, सहायक अध्यापक सरफराज के अलावा रसोईया मौजूद मिली । विद्यालय में तैनात शिक्षामित्र यास्मीन बानो गैरहाजिर मिली। प्रधानाध्यापिका का कहना है कि शिक्षामित्र अभी भी ससुराल में है और वहां पर कंटेनमेंट जोन है । इसलिए वह विद्यालय नहीं आ सकती है । प्रधानाध्यापक कहना है कि स्कूल को न तो सैनिटाइज कराया गया है और न ही इसकी साफ-सफाई कराई गई है। शासन का आदेश है इसलिए विद्यालय आना आवश्यक है। वही नारायणपुर गढ़िया स्थित प्राथमिक विद्यालय में भी प्रवासी मजदूरों को ठहराया गया था। यहां भी विद्यालय को सेनेटाइज नहीं कराया गया है । विद्यालय में प्रधानाध्यापिका सुनीता कटियार,शिक्षिका हिमांशी मौजूद मिली। शिक्षामित्र शाइस्ता बानो विद्यालय से नदारद थी ।

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी लालजी यादव ने बताया कि सभी परिषदीय स्कूल खोल दिए गए हैं । स्कूलों में शिक्षक-शिक्षिकाओं को जाना है। स्कूल में पहुंचने वाले सभी शिक्षक- शिक्षिका सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए अपना विभागीय कार्य पूरा करेंगे। प्रत्येक शिक्षक शिक्षिका पूरे समय मस्क लगाए रहेंगे। वहीं दूसरी ओर शिक्षक अपने स्तर से स्कूल सेनेटाइज करने को मजबूर हैं। पूर्व माध्यमिक विद्यालय ढिलावल विद्यालय के प्रधानाध्यापक ने स्कूल खुलने के पहले दिन स्कूल को सेनेटाइज कराया। इस मौके सचिव राजीव सुमन ,प्रदीप यादव कुलदीप यादव,मिथलेश यादव ,पूजा सिंह मौजूद रहे।