टिड्डी मुक्त हुआ जिला, खतरा अभी टला नहीं


कायमगंज/फर्रूखाबाद: पाकिस्तान से भारत के प्रांत राजस्थान के इलाकों से जनपद कासगंज व एटा से कंपिल क्षेत्र में घुसी टिड्डियों के एक समूह से हड़कंप मच गया था। कृषि विभाग ने अब दावा कर दिया है कि करोड़ों टिड्डियों के मारे जाने के बाद इस समय जनपद टिड्डीमुक्त हो गया है वही विभाग के अफसरों का यह भी कहना है, खतरा अभी टला नहीं है।

पाकिस्तान में टिड्डियों की रोकथाम के लिए दवा का छिड़काव नहीं किया जा रहा है। इससे समस्या बनी हुई है। रविवार को जनपद कासगंज, एटा व बदायूं से करोड़ों की संख्या में टिड्डी का एक दल कंपिल क्षेत्र में आ घुसा था। यह झुंड गौरखेड़ा, सिवारा, कंपिल, कायमगंज नगर के अलावा तराई इलाकों में फैल गया था। कायमगंज के ग्रामीणों ने ढोल नगाड़े, थाली, पटाखे छुडाक़र टिड्डियों को भगाने का प्रयास किया था। इससे दल कंपिल की ओर मूवमेंट कर गया था।

बहलोलपुर, जोगपुर, धर्मपुर, कुवरपुर खास, कायमगंज के रायपुर में टिड्डियों का दल छिप कर बैठ गया था। कृषि विभाग की केन्द्रीय व जिले की कृषि विभाग टीमों ने पहुंच कर छिड़काव कर करोड़ो टिड्डियों को मार गिराने का दावा किया था। इसको लेकर डीएम ने मौके पर जाकर स्थिति देखी थी। सोमवार तक कृषि विभाग का आपरेशन चला। उप कृषि निदेशक राजकुमार ने बताया टिड्डियों के कई दल पाकिस्तान की ओर से मूवमेंट कर राजस्थान पहुंचे। उन्होंने बताया पाकिस्तान में दवा का छिड़काव न होने से वहां रोकथाम नहीं हो पाई है। यह हवा के साथ आगे बढ़ जाती है। उन्होंने बताया कि राजस्थान से टिड्डियों के कई झुंड अलग अलग क्षेत्र की ओर मूव कर गए। हालांकि यहां जो दल पहुंचा उसकी रोकथाम कर मार गिराया गया है। बाहर प्रदेश में कई झुंड हो सकते है। जुलाई तक खतरा है। हालांकि किसानों को जागरूक किया गया है।