मौसम ने छीनी खरबूजे की मिठास, किसान हुये मायूस


फर्रूखाबाद: किसान पहले ही लॉकडाउन के हंटर से कराह रहा था। लेकिन अचानक बिगडे़ मौसम के चलते हुई बारिश ने किसानों का दर्द बढ़ा दिया है। तैयार खरबूजों की फसल पर बारिश ने कहर बरपाया है। खेत मे ही खरबूजे खराब होने लगे हैं। साथ ही बिगडे मौसम से खरबूजों की मिठास भी चली गई है। जिसके चलते खरबूजों की बिक्री डाउन हो गई है। लाक डाउन ने पहले ही किसानों को खूब रुलाया है जीतोड मेहनत लागत के बाद भी किसानों के हाथ कुछ नहीं लग रहा है।

किसानों की सब्जियां पहले ही माटीमोल बिक रहीं थी। किसानों को खरबूजों की खेती से बड़ी उम्मीदें थी लेकिन खरबूजे भी लॉकडाउन के फेर में फंस कर रह गए थे जैसे तैसे मौसम ठीक होने से खरबूजों की बिक्री हो रही थी पर अचानक हुई बारिश से खरबूजों को अब खरीददार मिलना भी बंद हो गए है। हाल यह है कि पिछले दो दिन से खेत में खरबूजे खराब हो रहे हैं। किसान प्रदीप शाक्य, जहीर खां ने बताया कि खरबूजों की खेती से बड़ी उम्मीद थी मौसम ठीक था तो खरबूजे बिक रहे थे लेकिन बारिश के बाद अचानक बिक्री खत्म हो गई है। थोक मण्डी में खरबूजा 10 रुपए प्रति किलो तक बिक रहा था पर अब खरीददार नहीं मिल रहे है। बताया कि पिछले वर्ष खरबूजे का भाव 20 रुपए किलो था। किसानों ने बताया कि बारिश होने से खरबूजों में गला रोग लग गया है। साथ ही खरबूजे की मिठास चली गई है।