बिहार:पुलिस के स्वागत में उड़ी लॉकडाउन की धज्जियां,नेता भी रहे मौजूद


बिहार: सरकार ने जिन कंधों पर लॉकडाउन का पालन कराने की जिम्मेदारी दी है वे अपने कर्तव्यों को निभाने के बजाय इसका उल्लंघन करते नजर आए. इसे लेकर सोशल मीडिया पर खूब चर्चा भी हुई. मामला बिहार के समस्तीपुर का है.

दरअसल, एक संस्था ने कोरोना योद्धा के तौर पर काम कर रहे पुलिस वालों के सम्मान में फूलों से स्वागत करने का कार्यक्रम आयोजित किया था, जिसमें समस्तीपुर नगर थाना और मुफस्सिल थाने की पुलिस को बुलाया गया.

रविवार सुबह करीब 11 बजे यह कार्यक्रम आजाद चौक से शुरू हुआ. इस दौरान सड़क के दोनों ओर काफी संख्या में लोग फूल लेकर खड़े थे. इतना ही नहीं इस भीड़ में महिलाओं के साथ-साथ बच्चे भी शामिल थे. पुलिस की टीम सायरन बजाते हुए कार्यक्रम में पहुंची. जहां लोग सोशल डिस्टेंसिंग को भूल पुलिस वालों पर फूलों की बारिश करते दिखे. सड़क पर खड़ी भीड़ पुलिस वालों के आगे-पीछे चलना शुरू हो गई.

इस दौरान फूल मालाओं से लदे दोनों थानाध्यक्ष ये भूल गए कि उनकी ड्यूटी लॉकडाउन का पालन कराना है. मामले में नया मोड़ तब आया जब नगर परिषद् के सभापति के साथ-साथ जदयू के नेता भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए. संस्था ने फूलों से सम्मानित करने का लाइव वीडियो भी बनाया. जिसे सोशल मीडिया पर देख लोग तरह-तरह के सवाल खड़े करने लगे.

राजद के प्रदेश प्रवक्ता और समस्तीपुर के स्थानीय विधायक अख्तरुल इस्लाम शाहीन ने सवाल उठाते हुए इसकी उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग की है.

उन्होंने कहा कि लॉकडाउन का उलंघन देखने को मिला है, जो काफी दुर्भाग्यपूर्ण है. जिस पुलिस की जिम्मेदारी लॉकडाउन का पालन करवाना है. जिस सत्ताधारी पार्टी के कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारी उसका पालन करना और सहयोग करना है, समस्तीपुर में वही पुलिस लॉकडाउन का उल्लंघन करते हुए दिखी और सत्ताधारी पार्टी के कार्यकर्ता लॉकडाउन का उल्लंघन करते देखे गए.

https://aajtak.intoday.in/story/bihar-samastipur-police-and-people-violate-lockdown-and-social-distancing-in-program-1-1182452.html