लखीमपुर-खीरी में अनाज लेने गए पिता-पुत्र की दिनदहाड़े हत्या


उत्तर प्रदेश के लखीमपुर-खीरी में लॉकडाउन के दौरान बुधवार को अनाज लेने गए पिता-पुत्र की अज्ञात बदमाशों दिनदहाड़े हत्या कर दी। बदमाशों ने पहले दोनों को गोली मारी और तलवारों से भी हमला किया। इसमें बेटे की मौके पर मौत हो गई जबकि पिता ने अस्पताल में दम तोड़ दिया।

लखीमपुर-खीरी के मनिकापुर गांव में रहने वाले रमेश शुक्ला (48) अपने बेटे भोलू शुक्ला (25) के साथ बुधवार की सुबह बरखेरवा निवासी तेजनाथ के कोटे पर गल्ला लेने गए थे। इसी दौरान कुछ अज्ञात बदमाशों ने इन पर हमला कर दिया। हमलावरों ने पहले बेटे भोलू को गोली मार दी और फिर उसके ऊपर धारदार हथियारों से हमला किया। हमले में भोलू की मौके पर मौत हो गई।

वहीं, पिता रमेश भागकर कोटेदार के घर में छुप गए और दरवाजा बंद कर लिया। हमलावरों ने दरवाजा तोड़कर रमेश शुक्ला को बाहर निकाला और उनको गोली मार दी। रमेश पर भी धारदार हथियारों से हमला किया। हमले में रमेश गंभीर रूप से जख्मी हो गए। उनको इलाज के लिए अस्पताल ले जाया जा रहा था। रास्ते में उसकी मौत हो गई।

बताया जाता है कि करीब आठ साल पहले बरखेरवा के तत्कालीन प्रधान अवधेश शुक्ला की हत्या कर दी गई थी। उसमें  रमेश शुक्ला जेल गया था। इन दिनों रमेश जमानत पर बाहर थे। बताया जाता है बदले की भावना से रमेश और उसके बेटे की हत्या की गई है। हमलावर अवधेश के बेटे बताए जा रहे हैं।