तीन माह से वेतन न मिलने पर 108 व 102 एम्बूलेंस चालक व ईएमटी ने की हड़ताल


फर्रूखाबाद: जिले में चल रही 108 व 102 एंबूलेंस सेवायें ठप कर दी गई है। ईएमटी व पॉयलेटों को तीन माह से वेतन तक नही मिला है। वेतन तो दूर की बात है फैल रही इस कोरोना की महामारी से बचाव के लिए सुरक्षा किटे तक मुहैया नही कराई है। जिससे सभी भयजदा है। इसी के साथ अन्य मांगो को लेकर सभी ने एकजुट होकर हडताल कर दी।
नोवेल कोरोना वायरस के फैलने से प्रदेश सरकार ने लॉक डाउन कर रखा है। जिसमें लोगो के आवागमन पर भी रोक लगी है। ऐसी स्थिति में किसी व्यक्ति की हालत बिगडती है तो वह 108 एंबूलेंस द्वारा लोहिया अस्पताल पहुंचकर अपना उपचार करा लेता है सडको पर इस समय प्राईवेट वाहन भी नजर नही आ रहे है। ईएमटी व पॉयलेटो की इस मेहनत को देखते हुए शासन ने उनके लिए कोरोना वायरस से बचाव सम्बन्धित कोई सुविधा उपलब्ध नही करवाई है। जिससे सभी ईएमटी भयभीत है। बताया गया कि शासन ने किसी का बीमा भी नही कराया है। तीन माह से वेतन न मिलने से सभी लोग भुखमरी की कगार पर पहुंच रहे है न ही सात माह से पीएफ दिया गया है। गंभीर समस्या बताते हुए सभी ने बताया कि किसी को भी इस समय भोजन भी मुहैया नही हो पा रहा है। जिससे वह काफी परेशान है। इन्ही मांगो को लेकर आज लोहिया अस्पताल पं्रागण मे सभी चालको ने अपनी अपनी एंबूलेंसे खडी कर हडताल की। बताते चले कि जनपद 46 एंबूलेंसे है जिन पर 200 कर्मचारी कार्यरत है। हडताल से पूर्व सभी ने जिला प्रभारी अभय कुमार, रवि सिंह व प्रोग्राम मैनेजर सौरभ चौहान को भी अपनी समस्याओ से अवगत कराया था। लेकिन उनकी समस्याओ का समाधान नही हुआ। हडताल के दौरान कहा कि गया जब तक उनकी मांगे पूरी नही की जायेगीं। तब तक उनकी हडताल जारी रहेगी। इस दौरान ईएमटी शिशिर, अजीत, लोकेश, सुखदेव, अभिनव, संजय, राज किशोर व पॉयलेट सूरज, सतीश, आदेश, राहुल, अखिलेश व जिला संचालक नरेन्द्र सिंह सहित अन्य लोग मौजूद रहे। वहीं सभी ब्लॉकों में चालक व ईएमटी हडताल पर है।