दरगाह शहाबुद्दीन औलिया के उर्स का हुआ आगाज

Your ads will be inserted here by

Easy Plugin for AdSense.

Please go to the plugin admin page to
Paste your ad code OR
Suppress this ad slot.

तीन दिवसीय सालाना उर्स में पहले दिन पहुंचे बड़ी संख्या में अकीदतमंद
फर्रुखाबाद
: हिंदू मुस्लिम एकता की प्रतीक दरगाह शहाबुद्दीन औलिया के तीन रोजा सालाना उर्स का कुरआन ख्वानी के साथ आगाज सोमवार को हो गया जिसमें बड़ी संख्या में अकीदतमंद में पहुंचे दरगाह के सज्जादा नशीन मोहम्मद शरीफ उर्फ मोहब्बत शाह की जेरे सरपरस्ती में दरगाह का चिरागाह किया गया और जश्न ए ईद मिलादुन्नवी की महफिल सजी जिसमे शोराओ ने आका और शहाबुद्दीन औलिया की शान में कलाम पेश किये
लोको रोड स्थित दरगाह शहाबुद्दीन औलिया की दरगाह अपने जायरीनों से गुलजार हो गई है उर्स के पहले दिन जायरीनों ने पहुंच दरगाह पर माथा टेका वही देर शाम जश्न-ए-मिलादुन्नबी की महफिल सजी जिसमे शोराओ और कब्बालों ने कलाम पेश किये मौलाना आफताब ने शेर पेश करते हुए कहा। मुकद्दर के अच्छे है वो लोग जो भी मोहम्मद की महदो सना कर रहे है, दिखा दे इलाही हमे भी मदीना शबो रोज से दुआ कर रहे है। शायर युसूफ हातिब ने कहा ष्मुश्किलें पानी पानी हो गई मेरी,मुश्किलों में जो मुश्किल कुशा मिल गया।
कारी मिनशाद, दिलशाद रहमानी, हाफिज अरशद, हाफिज जुलकदर व कब्बाल असलम निजामी, कमालुद्दीन आदि ने कलाम पेश कर महफिल को रोशन किया। इससे पहले महफिल में मौलाना दस्तगीर ने तकरीर में शोहदा ए कर्बला और खानकाहों पर रौशनी डाली। नायब सज्जादानशीन शाह मोहम्मद वसीम ने दुआ की।
इस मौके पर मोहम्मद आकिब खान, कासिम साबरी,रफत हुसैन, हनीफ खां, सरदार गुरजीत सिंह, हरविंदर सिंह, सिमरनजीत, शाह आलम, इमरान, असलम, रानू, राजा, इसरार, मोहसिन आदि मौजूद रहे।