तहसील दिवस में 133 शिकायते आईं 21 का हुआ निस्तारण

फर्रुखाबादः सदर तहसील दिवस में मंगलवार को एसडीएम, सीओ व भोजपुर के विधायक ने बैठकर लोगों की समस्याएं सुनीं। इस दौरान एक महिला ने पट्टे की भूमि पर कब्जा न मिलने की शिकायत की। इस पर एसडीएम ने तीन दिन के अंदर मामला निस्तारित कर महिला को कब्जा दिलाने के निर्देश दिए। विधायक ने भी लेखपाल व कानूनगो की फटकार लगाई। कुल 133 शिकायतें आई। जिसमें 21 मामले निस्तारित कर दिए गए।
आवास योजना के अन्तर्गत अपात्रों को पक्के मकान बनवाने की कालोनियां आबंटित किये जाने की शिकायत तहसील दिवस फर्रूखाबाद में की गई।
मोहम्मदाबाद खण्ड विकास के मौजा पिपरगांव के मजरा बढ़ेली के निवासी जयपाल सिंह पुत्र झब्बूलाल ने मंगलवार को तहसील दिवस में यह आरोप लगाते हुये कि उनके गांव में ग्राम प्रधान ने अपने चहते लोगों के नाम आवास योजना के अन्तर्गत अपात्रों को कालोनियां वितरित कराई। जिसके फलस्वरूप पात्र लोगों में रामलड़ैते पुत्र मुंशीलाल, नन्दलाल पुत्र छोटेलाल, हरीराम पुत्र लोकराम, इन्द्रपाल पुत्र जोरावर, रूपलाल पुत्र लोकराम आदि को कालोनियां नहीं मिल सकीं।
उन्होने फर्रूखाबाद तहसील दिवस के प्रभारी उपजिलाधिकारी से शिकायत करते हुये अपात्र लोगों के विरूद्ध कार्रवाही करते हुये पात्र लोगों को कालेनियां आबंटित किये जाने की प्रार्थना की है।
गांव नगला बाग रठौरा निवासी छोटे की पत्नी कमला देवी ने प्रार्थनापत्र दिया कि उनके पट्टे की भूमि पर अभी तक कब्जा नहीं मिला है। कुछ लोग उस पर फसल कर रहे हैं। अपने ही गांव में पट्टे की भूमि पर महिला को कब्जा न मिलने की जानकारी से विधायक हैरान रह गए। उन्होंने कानूनगो महेंद्र व लेखपाल प्रदीप माथुर को हड़काया व तत्काल कब्जा दिलाने की हिदायत दी। एसडीएम ने महिला की समस्या तीन दिन में निस्तारित कर आख्या प्रस्तुत करने का निर्देश दिया। थाना जहानगंज के गांव सिरौंज निवासी सौरभ दीक्षित ने शिकायत की कि ग्राम प्रधान के भाई ने चकरोड तोड़कर अपने खेत में मिला लिया। मना करने पर तमंचा लेकर जान से मारने की धमकी दी है। उन्होंने पैमाइश कराकर चकरोड खुलवाने की मांग की। एनएकेपी डिग्री कालेज के सचिव डा.हरिदत्त द्विवेदी ने शिकायत की कि महाविद्यालय के नाम गांव खुदागंज के निकट भूमि है। जिस पर कुछ लोग कब्जा कर रहे हैं। मोहल्ला छावनी निवासी अशोक कोरी की पत्नी राजरानी ने प्रार्थनापत्र दिया कि भूमाफिया उनके मकान पर जबरन कब्जे का प्रयास कर रहे हैं। उन्हें व परिजनों को जान से मारने की धमकी दी जा रही है। अर्रापहाड़पुर निवासी हरवीर सिंह ने शिकायत की 14 जुलाई को उसकी बहन व भांजे की मौत बिजली का तार टूटने से करंट की चपेट में आकर हो गई थी। जबकि पिता धारा सिंह झुलस गए थे। इससे उनका मानसिक संतुलन खराब हो गया। अभी तक उन्हें बिजली विभाग से मुआवजा नहीं दिया गया। फतेहगढ़ के जेएनवी रोड निवासी रिटायर्ड सैनिक उदयवीर सिंह ने प्रार्थनापत्र देकर कहा कि थाना मेरापुर के गांव अछरौड़ा स्थित उनकी भूमि पर कुछ लोग अवैध कब्जा किए हैं। एसडीएम ने तहसील दिवस के मामलों को शीघ्र निस्तारित करने की हिदायत दी।