लाॅकडाउन को जनता का मिला समर्थन, सड़कों-गलियों में पसरा रहा सन्नाटा

Your ads will be inserted here by

Easy Plugin for AdSense.

Please go to the plugin admin page to
Paste your ad code OR
Suppress this ad slot.

कन्नौज: जिले में कोरोना वायरस की चेन तोड़ने के लिए लोगों में जागरुकता दिखी। लाॅक डाउन के पहले दिन जरूरतमंद लोगों ने सुबह घरों से निकल कर अपने काम निपटा लिए। शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में पुलिस गश्त जारी है। बुधवार को प्रशासन लाॅकडाउन को प्रभावी बनाने के लिए सक्रिय हो गया। 
लाॅकडाउन को जनता का समर्थन मिला। शहरी क्षेत्र में लोग घरों में रहे। बुधवार को दवा व सब्जी की खरीदारी करते भी कम लोग दिखे। शहर के मुख्य बाजार में कुछ देर के लिए सब्जी की दुकानें लगने दी गईं। इक्का-दुक्का ठेला वाले शहर में कहीं-कहीं फल बेचते दिखे।
शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में सन्नाटा रहा। लोगों ने घरों में रहकर कोरोना वायरस को फैलने से रोकने में अपनी सहभागिता दिखाई। सड़क पर प्रशासनिक अधिकारी लोगों को समझाते रहे। शहर समेत ग्रामीण क्षेत्रों में भी दुकानें व हाट-बाजार बंद रहे। बिना वजह निकलने वाले लोगों को समझाकर घर भेजा गया।छिबरामऊ, तिर्वा, गुरसहायगंज, तालग्राम, समधन, मलिकपुर, मानीमऊ, सौरिख, सिकंदरपुर, खड़िनी, हसेरन, नादेमऊ, ठठिया, इंदरगढ़, जलालाबाद, जलालपुर पनवारा, जसोदा, तेराजाकेट आदि क्षेत्रों में भी पुलिस का सख्त पहरा दिखा। लाउड स्पीकर से घरों में रहने के निर्देश दिए। एनएच-91 व लिंक रोड पर इक्का-दुक्का वाहन चलते दिखे। इससे सड़कों पर सन्नाटा रहा। जरूरतमंद वाहनों को ही निकलने दिया गया। बिना वजह निकलने वाले वाहनों को खड़ा कर लिया गया। शहरी क्षेत्र में लाउड स्पीकर से घरों में रहने के निर्देश दिए जाते रहे। मुख्य चैक-चैराहों पर पुलिस भ्रमण करती रही। अस्पतालों में चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मचारी मरीजों का इलाज करते रहे।