चांद के दीदार को आज टिकी रहेंगी निगाहें

Your ads will be inserted here by

Easy Plugin for AdSense.

Please go to the plugin admin page to
Paste your ad code OR
Suppress this ad slot.

लखनऊ: चांद के दीदार को लोगों की निगाहें रविवार को आसमान की ओर टिकी रहेंगी। शाम को मगरिब की नमाज बाद 29 रमजान का चांद देखने का सिलसिला शुरू होगा। शहर में चांद दिखने या अन्य देश के अन्य शहरों में चांद नजर आने की तस्दीक के बाद शिया-सुन्नी उलमा चांद का एलान करेंगे। चांद की तस्दीक होने पर सोमवार से रमजान शुरू होगा। 29 का चांद नजर न आने पर मंगलवार को पहली रमजान होगी।
मरकजी चांद कमेटी की ओर से ऐशबाग ईदगाह में चांद के दीदार के लिए विशेष इंतजाम किए जाएंगे। उलमा की टीम शाम से ही दूरबीन के साथ चांद के दीदार के लिए आसमान में नजरे गड़ाए रहेगी। ईदगाह के इमाम मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने बताया कि चांद के दीदार के लिए ऐशबाग ईदगाह में इंतजाम किए गए हैं। चांद होने की तस्दीक के साथ ही मस्जिदों में ईशा की नमाज के बाद तरावीह शुरू हो जाएगी।
मौलाना ने लोगों से रमजान का चांद देखने की अपील करत हुए कहा कि किसी भी इंसान को यदि 29 का चांद दिखाई देता है तो वह हेल्पलाइन नंबर 9415023970, 9335929670 व 9415102947 पर फोन कर इसकी सूचना दे सकता है। उधर, मरकजी शिया चांद कमेटी की ओर से हुसैनाबाद के ऐतिहासिक सतखंडा से रमजान के चांद का दीदार किया जाएगा। चांद देखने के लिए हुसैनाबाद ट्रस्ट की ओर से इंतजाम किए जाएंगे।
कमेटी के अध्यक्ष मौलाना सैफ अब्बास ने भी लोगों से रमजान का चांद देखने की अपील की। मौलाना ने कहा कि चांद नजर आने पर हेल्पलाइन नंबर 9415580936 व 9839097407 पर फोन कर तस्दीक कर सकते हैं। इसी तरह काजी-ए-शहर मुफ्ती इरफान मियां फरंगी ने भी हेल्पलाइन नंबर 9335841177, 9415783304 व 9044842922 नंबर जारी कर लोगों से चांद देख इन नंबरों पर तस्दीक करने की अपील की।
इबादत के लिए मस्जिदें हो रही गुलजार
चांद होने के साथ ही मस्जिदों में तरावीह की नमाज का सिलसिला शुरू हो जाएगा। शहर की मस्जिदों में सवा पारे से लेकर पांच पारे की तरावीह की नमाज अदा कराई जाएगी। अल्लाह की बारगाह में एक महीने तक इबादत के लिए शहर की मस्जिदें गुलजार हो रही हैं। रंगरोगन व साफ-सफाई का काम पूरा हो चुका है। वहीं, गर्मी से इबादत में कोई खलल न पड़े इसके लिए कई मस्जिदों में कूलर व एसी का इंतजाम भी किया गया है।
कहां कितने पारे(अध्याय)
मस्जिद दारुल उलूम फरंगी महल- पांच पारा
दरगाह शाहमीना शाह- पांच पारा
मस्जिद लाहौरगंज- पांच पारा
मस्जिद मदारा बेग- पांच पारा
मस्जिद अखाड़े वाली- पांच पारा
मस्जिद आला हजरत- पांच पारा
मस्जिद तकवियतुल इमान- तीन पारा
मस्जिद इब्राहिमी- तीन पारा
जामा मस्जिद डालीगंज- तीन पारा
मस्जिद हमजा- तीन पारा
मस्जिद उस्मानिया- तीन पारा
मस्जिद कगारवाली- तीन पारा
मस्जिद आएशा- तीन पारा
मस्जिद फातमी- तीन पारा
मस्जिद इस्माईली- तीन पारा
मस्जिद मुहम्मदी- तीन पारा
मस्जिद ख्वास- तीन पारा
मस्जिद चमन वाली- दो पारा
मस्जिद डालीबाग- दो पारा
मस्जिद मम्मी जर्राह- दो पारा
मस्जिद सारिया- दो पारा
मस्जिद तंबाकू मंडी- दो पारा
मस्जिद अनस- दो पारा
मस्जिद इब्राहिमी- दो पारा
मस्जिद सुब्हानिया- दो पारा
मस्जिद गुलाब- दो पारा
मस्जिद मदार बक्श- डेढ़ पारा
मस्जिद अबूबक्र- डेढ़ पारा
मस्जिद बिलाल- डेढ़ पारा
मस्जिद हरमैन- सवा पारा
मस्जिद टिकैतराय- सवा पारा
मस्जिद जमीअतुल कुरैश- सवा पारा
मस्जिद नदवा कॉलेज- सवा पारा
छाने लगी रौनक
रमजान के इस्तकबाल के लिए शहर के बाजारों में रौनक छाने लगी है। पुराने शहर के अमीनाबाद, मौलवीगंज, नजीराबाद, चौक, नक्खास व अकबरी गेट सहित अन्य बाजार गुलजार होने लगे हैं। कई जगह दुकानों पर खरीदारी का सिलसिला तेज हो गया है। रमजान को लेकर चौक व अमीनाबाद में चिकन के कुर्ता-पैजामा व टोपियों की खरीदारी भी बढ़ गई है।