शाहबुद्दीन औलिया के सालाना उर्स के दूसरे दिन गागर व चादर के जुलूस में अकीदतमंदों की उमड़ी भीड़

Your ads will be inserted here by

Easy Plugin for AdSense.

Please go to the plugin admin page to
Paste your ad code OR
Suppress this ad slot.

फर्रूखाबाद: दरगाह हजरत शाहबुद्दीन औलिया के सालाना उर्स के दूसरे दिन दरगाह पर सरकारी गागर व चादर पेश की गई। सुबह कुरआन ख्वानी के बाद देर रात महफिले समां की महफिल सजी जिसमें बड़ी संख्या में अकीदतमंदों ने पहुॅच शिरकत की।

लोको रोड स्थित दरगाह पर एक बार फिर एकता और भाईचारा की खुशबू महकती दिखाई दी। उर्स के दूसरे दिन मज़हबी बाशिंदों की दीवारे टूट गईं लोगों ने पहुॅचकर दरगाह पर माथा टेका सज्जदानशीन मोहम्मद शरीफ खांन उर्फ मोहब्बत शाह नायब सज्जादानशीन मोहम्मद वसीम खां की जेरे परस्ती में कुरआन ख्वानी के बाद पंजाब स्थित दरगाह के हजरत मुजाहिद अधिक संख्या में कुल शरीफ में शरीक हुये। कुल के बाद मुल्क में अमन और भाईचारा की दुआ की गई। नमाज जोहर बाद दरगाह पर सरकारी चादर व गागर पेश की गयी। सूफियाना कलामों के बीच चादर व गागर का जुलूस दरगाह पर पहुॅचा।

चादर व गागर का बोशा लेने को अकीदतमंदों की भीड़ उमड़ी। देर रात महफिले समां ऑल इण्डिया उलेमा मशाइख बोर्ड के चेयरमैन व अजमेर दरगाह के मेम्बर अम्मार अहमद अहमदी उर्फ नय्यर मियां की सरपरस्ती में सजी महफिल जिसमें नबी की सीरत बयां की गई। इस मौके पर मोहम्मद हलीम, मीडिया प्रभारी आकिब खांन, कासिम साबरी, मोहसिन, रफत, सरदार गुरजीत सिंह, सखप्रीत सिंह, निर्भय सिंह, जसवंत सिंह, परमजीत सिंह व विक्रम सहित सैकड़ों अकीदतमंदों ने उर्स में पहुॅचकर हाजिरी दी।