ताज़ा खबर :

कुरआन इंसान की भलाई और हिदायत का रास्ता दिखाने वाली किताब है।

फर्रूखाबादः मोहम्मद आसिफ ने बताया कि रमजान के महीने में एक ऐसी रात है जो हजार महीनों से ज्यादा बेहतर है। इस रात से मुराद लैलतुल कद्र है। जैसे कि अल्लाह ने फरमाया कि हमने इस कुरआन को शब-ए कद्र में नाज़िल (अवतरित) किया है और तुम क्या जानो कि शब-ए कद्र क्या चीज है। शब-ए कद्र हजार महीनों से ज्यादा बेहतर है। उन्होने कहा कि कुरआन इंसान की भलाई और हिदायत का रास्ता दिखाने वाली किताब है। सच्ची बात तो यह है कि इंसान के लिये उससे बढ़कर कोई दूसरी नेयमत हो ही नहीं सकती। इस लिये कहा गया है कि इंसानी तारीख में कभी हजार महीनों में भी इंसानियत की भलाई के लिये वह काम नहीं हुआ जो एक रात में हुआ।

मोहम्मद शाहनवाज रज़ा ने बताया कि रोजो से दूसरों की भूख और प्यास का एहसास होता है। उन्होने कहा कि रमजान ए पाक का महीना न सिर्फ रहमतों और बरकातों का महीना है। बल्कि सारी कायनात को मोहब्बत और इंसानियत का संदेश भी देता है। इस माह में ज़कात व सदक़ा खैरात व अतियात देने व अल्लाह की राह में खर्च करने का सवाब सात गुना से लेकर 70 गुना से ज्यादा होता है। रमजान में असल अहमियत अमल की है।

मोहम्मद सादाद ने बताया कि ज़कात देना फर्ज है। कुरआन मजीद की आयतों और हुजूर सल्लाहो अलैहे वसल्लम की हदीसों से इसकी फर्जिलत साबित होती है। जो शख्स ज़कात फर्ज होने का इनकार करें। वह काफिर है।

सैय्यद तारिक मियाँ ने बताया कि ज़कात का लफ्ज तज्क़िये (पाक करना) से बना है, ज़कात इंसान के माल को पाक करती है और बढ़ाती है। इंसान के नफ्स को हिर्स (लालच) से पाक करती है। जो शख्स अपने माल से ज़कात निकालता है। गोया वह यक़ीन करता है कि मेरा भरोसा माल पर नहीं बल्कि अल्लाह की ज़ात पर है। जो अपनी राह में खर्च करने वालों को बेहिसाब देता है।

जॉन मोहम्मद अंसारी ने बताया कि अल्लाह के रसूल ने फरमाया कि रोजा और कुरआन बंदे की शफाअत करेंगे। जब रमजान शरीफ तशरीफ लाता है। तो आसमान के दरवाजे खोल दिये जाते है और शैतान को जंजीरों में जकड़ लिया जाता है।

डॉ0 मोहम्मद इकबाल अहमद ने कहा कि रोजा रखना हर इंसान को हर चीज का पाबंद बनाता है। आंख का रोजा यह है कि जिस चीज को देखने से अलह ने मना किया है। उसे न देखे कान का रोजा यह है कि जिस बात को सुनने से अल्लाह ने मना किया है। उसे न सुने जुबान का रोजा यह कि जिस बात को बोलने से अल्लाह ने मना किया उसे न बोले, हाथ को रोजा यह है कि जिस काम को करने से अल्लाह ने मना किया है उसे न करें। पैर का रोजा यह है कि जिस तरफ जाने से मना किया उधर न जाए।

मज़हर मोहम्मद खां ने कहा कि रमजान में विशेष रूप से इंसान को गुनाहों से डर लगता है। यही खुदा का डर और आखिरत का यकीन ही इंसान को गुनाहों से बचाता है। रोजा बुरे-बुरे कामों से भी रोकता है। रोजे के दौरान पाक साफ जिन्दगी गुजारता है। रोजेदार इस दौरान यदि कोई गलत काम होने की संभावना हो भी जाए तो रोजा तुरन्त रोकता है।

मोहम्मद हफीज खां ने बताया कि इंसान का जिस्म और रूह भी अल्लाह की अमानत है। उन्होने लोगों से अपील की कि केवल एक माह के लिये नहीं ताउम्र के लिये नेक बनों इस्लाम शांति का पैगाम देता है।

Related Posts

दरगाह शहाबुद्दीन औलिया के उर्स का हुआ आगाज

Comments Off on दरगाह शहाबुद्दीन औलिया के उर्स का हुआ आगाज

माहे रमज़ान में की गई नेकी बनाती है जन्नत का हक़दारःफरियाब खांन

Comments Off on माहे रमज़ान में की गई नेकी बनाती है जन्नत का हक़दारःफरियाब खांन

मुझे मां से गिला, मिला ये ही सिला, बेटियां क्यों पराई हैं

Comments Off on मुझे मां से गिला, मिला ये ही सिला, बेटियां क्यों पराई हैं

देवी मन्दिरो में उमड़ा आस्था का सैलाब

Comments Off on देवी मन्दिरो में उमड़ा आस्था का सैलाब

सूर्य पूजन के साथ 30वां मानस सम्मेलन प्रारम्भ

Comments Off on सूर्य पूजन के साथ 30वां मानस सम्मेलन प्रारम्भ

रामनवमी पर्व पर देवी मंदिरों में उमड़ा आस्था का जनसैलाब

Comments Off on रामनवमी पर्व पर देवी मंदिरों में उमड़ा आस्था का जनसैलाब

कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा श्रद्धालुओं ने लगाई डुबकी

Comments Off on कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा श्रद्धालुओं ने लगाई डुबकी

धनतेरस पर इन चीजों से करें मां लक्ष्मी का पूजन, घर में होगी धन की बारिश

Comments Off on धनतेरस पर इन चीजों से करें मां लक्ष्मी का पूजन, घर में होगी धन की बारिश

अहंकार भगवान का भोजनःमनोजानंद जी महाराज

Comments Off on अहंकार भगवान का भोजनःमनोजानंद जी महाराज

अलविदा जुमे में नमाजियों ने मुल्क की सलामती के लिये की अमन-चैन की दुआ

Comments Off on अलविदा जुमे में नमाजियों ने मुल्क की सलामती के लिये की अमन-चैन की दुआ

जन्माष्टमी 2019: भगवान कृष्ण की बांसुरी के बारे में नहीं जानते होंगे आप ये बातें

Comments Off on जन्माष्टमी 2019: भगवान कृष्ण की बांसुरी के बारे में नहीं जानते होंगे आप ये बातें

नौचंदी जुमेरात पर दरगाहों पर अकीदतमंदों का उमड़ा जन सैलाब

Comments Off on नौचंदी जुमेरात पर दरगाहों पर अकीदतमंदों का उमड़ा जन सैलाब

Create Account



Log In Your Account